उत्तराखण्डक्राइमनैनीताल

होटल में छात्रों ने इस तरह बना दी डेड बॉडी, एक्शन में पुलिस

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड के नैनीताल में होटल में ठहरे छात्रों ने ऐसी हरकत की कि पुलिस भी हैरत में पड़ गई। इन छात्रों ने चेक आउट से पहले सफेद चादर में लपेट कर डेड बॉडी बना दी। इससे होटल के कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। पुलिस मौके पर पहुंची तो सच्चाई सामने आई। 

पुलिस के अनुसार 15 जून 2024 को सरोवर नगरी स्थित एक होटल में रूकने आये तीन छात्र चैक आउट करने से पहले सफेद चादर में लपेट कर डेड बॉडी बनाकर चैक आउट कर चले गये। सफाई कर्मचारी जब रूम साफ करने आये तो बैड में सफेद चादर में लिपटी डेड बाॅडी देख घबराकर पुलिस को सूचित किया। इस पर पुलिस टीम मौके पर पहुंची और पाया कि बेड पर सफेद चादर में सॉस लगा कर तकिये लपेट कर डैड बाॅडी दिखाने का प्रयास किया गया था। जो अनुचित प्रैंक था। 

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में हुई पीसीएस परीक्षा में 141, 256 अभ्यर्थी हुए शामिल

इसे लेकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रहलाद नारायण मीणा द्वारा उक्त कृत्य करने वालों का शीघ्र पता लगाकर कार्यवाही करने के निर्देश प्रभारी निरीक्षक कोतवाली मल्लीताल को दिये गये। निर्देश पर प्रभारी निरीक्षक कोतवाली मल्लीताल हरपाल सिंह द्वारा कार्यवाही करते हुए होटल मालिक से पूछताछ की गयी तो उसने बताया कि उस कमरे में 03 लोग रूके थें। सीसीटीवी एवं पूछताछ पर तीनों को रूम से भागते हुए देखा गया।

यह भी पढ़ें -  कोरोना के नए वैरिएंट की दस्तक, बढ़ा सकता है मुश्किलें

सर्विलास की मदद से जब उनकी लोकेशन ढुडी गयी तो वह मुक्तेश्वर निकली जिस पर मुक्तेश्वर थाना प्रभारी को कार्यवाही हेतु सूचित किया गया।  तीनों छात्रों द्वारा नकली डेड बॉडी बनाकर पुलिस को गुमराह किया गया, और आपातकालीन सेवाओं में बाधा उत्पन्न की गयी।  इस पर तीनों छात्रों देवाशीष नायक पुत्र चन्द्र मणि नायक निवासी इन्द्रापुरम गाजियाबाद, उज्जवल भारद्वाज पुत्र प्रदीप कुमार भारद्वाज और दिव्या सोन पुत्री लोकेन्द्र कुमार सौन निवासी शालीमार गार्डन साहिबाबाद दिल्ली का पुलिस एक्ट में चालान किया गया।

साथ ही उन्हें कड़ी चेतावनी भी दी गई है। पुलिस ने लोगों से अपील है कि वह ऐसी अनुचित और गैर जिम्मेदाराना हरकतों से दूर रहें। इस प्रकार की गतिविधियां न केवल कानूनी रूप से दंडनीय हैं, बल्कि इससे वास्तविक आपातकालीन सेवाओं में भी बाधा उत्पन्न होती है। जिससे अन्य जरूरतमंद लोगों की जान को खतरा हो सकता है।

यह भी पढ़ें -  आसमान से बरस रही आफत, कई इलाके हुए जलमग्न
What’s your Reaction?
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
Join WhatsApp Group

Daleep Singh Gariya

संपादक - देवभूमि 24