उत्तराखण्डक्राइमदेहरादून

फर्जी कॉल सेंटर के माध्यम से विदेशों में की जा रही थी ठगी, दो शातिर गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें -

 देहरादून जिले के पुलिस कप्तान को मिली गोपनीय सूचना पर दून पुलिस ने बड़ी कार्यवाही की है। एसओजी तथा पटेलनगर पुलिस की संयुक्त टीम ने छापेमारी कर फर्जी इंटरनेशनल कॉल सेंटर का भंडाफोड़ किया है। मौके से दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। जबकि 14  लैपटॉप समेत अन्य उपकरण बरामद किए गए हैं। आरोपी कॉल सेंटर के माध्यम से स्वयं को माइक्रोसॉफ्ट का प्रतिनिधि दर्शाकर कंप्यूटर सिस्टम में भेजे गए बग, वायरस को ठीक करने के बहाने विदेशों में लोगों से ठगी करते थे। 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को गोपनीय माध्यम से पटेल नगर क्षेत्र में महंत इंद्रेश अस्पताल के पास स्थित रिद्धिम टॉवर में अवैध इंटरनेशनल कॉल सेंटर के संचालित होने और विदेशी लोगों को कॉल कर उनसे ठगी किए जाने की सूचना प्राप्त हुई। जिस पर एसएसपी देहरादून द्वारा पुलिस क्षेत्राधिकारी सदर के नेतृत्व में एसओजी तथा पटेलनगर पुलिस की संयुक्त टीम का गठन कर प्रभावी कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया।

यह भी पढ़ें -  मुक्तेश्वर पहुंचे राज्यपाल ने होम स्टे योजना पर दिया जोर, प्रोत्साहन के निर्देश

गठित टीम द्वारा क्षेत्राधिकारी सदर के नेतृत्व मे उक्त अवैध कॉल सेन्टर पर दबिश दी गई तो मौके पर रिद्धिम टावर के प्रथम तल पर बने एक बडे हॉल मे कुछ युवक, युवतियां लैपटॉप व कम्पयूटर सिस्टम के सामने बैठकर हैडफोन लगाकर कॉल पर बात कर रहे हैं। पूछताछ में बताया कि वह सभी विवेक तथा निकिता नाम के व्यक्तियों के लिए काम करते है।

कॉल सेंटर के माध्यम से वे अपना नाम बदलकर स्वयं को कंपनी का प्रतिनिधि बताकर विदेशी कॉल आने पर लोगो से बात करते है तथा विदेशी कस्टमर से कंप्यूटर सिस्टम मे वायरस होने व हैक होने से संबंधित समस्या के बारे में जानकारी मिलने पर उक्त समस्या को ठीक करने के एवज मे उनके सिस्टम मे अल्ट्रा व्यूवर का प्रयोग कर सिस्टम की एक्सेस प्राप्त कर लेते है तथा पूर्व में उन्ही के द्वारा भेजे गए वायरस को ठीक करने की बात कहकर उनसे गिफ्ट कार्ड तथा क्रिप्टो करेंसी में पेमेंट प्राप्त कर उनके साथ धोखाधडी करते है।

यह भी पढ़ें -  झगड़े के दौरान बीच बचाव को गया युवक, रेत दिया गला

जिसके बदले उन्हें हर माह अच्छी खासी सैलरी मिल जाती है तथा जिनके लिए वे काम करते है, उन्हें भी अच्छा खासा मुनाफा मिल जाता है। पुलिस टीम द्वारा मौके से कॉल सेंटर संचालक विवेक पुत्र अनिल कुमार निवासी चरेल सैक्टर 44 नोएडा (पीजी अर्पित) उत्तर प्रदेश मूल निवासी गम.नं.-1045 ग्राम अगरोहा हिसार हरियाणा व निकिता पुत्री किरन निवासी विलीज सोनादा पोस्ट ऑफिस दार्जलिंग, पश्चिम बंगाल को गिरफ्तार किया गया। कॉल सेंटर में कार्य कर रहे 15 लोगों को 41 सीआरपीसी का नोटिस दिया गया। 

यह भी पढ़ें -  तेंदुए के हमले में महिला गंभीर, ग्रामीणों में दहशत

What’s your Reaction?
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
Join WhatsApp Group

Daleep Singh Gariya

संपादक - देवभूमि 24