उत्तराखण्डनैनीतालशिक्षा

भूजल स्तर को बढ़ाने के उपाय खोजें विश्वविद्यालयः राज्यपाल

ख़बर शेयर करें -

नैनीताल। राज्यपाल/कुलाधिपति लेफ्टिनेंट जनरल (से.नि.) गुरमीत सिंह ने मंगलवार को कुमाऊं विश्वविद्यालय के डीएसबी परिसर में निदेशकों और संकायाध्यक्षों से अलग-अलग वार्ता कर सभी संकायों में हो रहे अकादमिक एवं प्रशासनिक कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान सभी निदेशकों एवं संकायाध्यक्षों ने अपने-अपने संकायों में किए जा रहे शोध, नवाचारों, और अन्य शैक्षणिक गतिविधियों पर विस्तृत प्रस्तुतीकरण दिए। साथ ही उन्होंने अपने विभागों में हो रहे महत्वपूर्ण कार्यों, परियोजनाओं और भविष्य की योजनाओं के बारे में जानकारी दी।

यह भी पढ़ें -  चीला शक्ति नहर हादसा-एसडीआरएफ ने दो साल बाद बरामद की कार, कंकाल बरामद

राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश में भूजल के स्तर में लगातार गिरावट आ रही है। विश्वविद्यालय भूजल स्तर को बढ़ाने के उपाय खोजें। विश्वविद्यालय उत्तराखंड के पारंपरिक जल स्रोतों, नौलों को बचाने के भी वैज्ञानिक समाधान ढूंढे। राज्यपाल ने कहा कि विश्वविद्यालय टूरिस्ट एवं ट्रैफिक मैनेजमेंट पर भी शोध करें और इस चुनौती हेतु अपने ठोस सुझाव दें जिससे पर्यटन और ट्रैफिक का सही से प्रबंधन किया जा सके।राज्यपाल ने कहा कि कुमाऊं का क्षेत्र अध्यात्म, साहित्य और संस्कृति के लिए पूरे देश में अपनी एक अलग पहचान रखता है। विश्वविद्यालय यहां के अध्यात्म, साहित्य और संस्कृति एवं मानसखंड के ऐतिहासिक महत्व और भविष्य की संभावनाओं हेतु भी शोध करे। बैठक में राज्यपाल द्वारा नवाचार और उद्यमिता को बढ़ावा देने के साथ-साथ नए विचारों और तकनीकों को अपनाने के लिए संकायाध्यक्षों को भी प्रेरित किया गया।

यह भी पढ़ें -  हल्द्वानी में आग से तीन दुकानें और मकान स्वाहा, लाखों की क्षति

What’s your Reaction?
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
Join WhatsApp Group

Daleep Singh Gariya

संपादक - देवभूमि 24